काठमांडू से घर लौट रहे दस लोगो को घोड़ासहन प्रखंड के बॉर्डर पर रोका गया

काठमांडू से घर लौट रहे दस लोगो को घोड़ासहन प्रखंड के बॉर्डर पर रोका गया

सभी लोग ढाका, चिरैया,एवम शिवहर के निवासी ।
नेपाल पुलिस ने सभी को भेजा बंकुल कोरोनटाइन में ।
घोड़ासहन पूर्वीचंपारण:


यह भी पढ़े : मेघावी छात्रा अनामिका ने कर ली आत्म हत्या,चल रहा था पट्टीदारी बिवाद।


काठमांडू से पैदल चल कर आ रहे दस अप्रवाशी मजदूरों को एसएसबी के जवानों में बुधवार की शाम बॉर्डर से वापस लौटा दिया उक्त सभी लोग साइड के रास्ते से भारतीय सीमा में प्रवेश की कोशिश कर रहे थे,जिसे एसएसबी पूछताछ के बाद पुनः नेपाल एपीएफ के हवाले कर दिया गया।

इसकी जानकारी देते जमुनिया एसएसबी के इंस्पेक्टर ओमकार सिंह ने बताया कि उक्त सभी लोग नेपाल में मजदूरी का कार्य करते थे सभी को जानकारी मिली थी ये 20 तारीख के बाद आवागमन सामान्य जो गया है जिसको लेकर बॉर्डर क्रॉस कर रहे थे।


यह भी पढ़े : रामगढ़वा में केन्द्रीय गृहमंत्री के कार्यक्रम को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने की बैठक

सभी को मजदूर पूर्वी चंपारण जिले के ढाका, चिरैया, एवम शिवहर जिले के बताए जाते है सभी को नेपाल एपीएफ को हैंड ओवर कर दिया गया है जहाँ से सभी को  कारणने लौटाया वापस सभी को पूछताछ एवम जांचोपरांत के बाद रौतहट के बकुल अवस्थित कोरोंनटाइन सेन्टर में भेज देने की बाद नेपाल एपीएफ ने बतायी है ।