लता मंगेश्कर के जन्मदिवस पर संगीतमय संध्या 'मेरी आवाज़ ही पहचान है' का हुआ आयोजन

लता मंगेश्कर के जन्मदिवस पर संगीतमय संध्या 'मेरी आवाज़ ही पहचान है' का हुआ आयोजन

 


यह भी पढ़े : डॉ० एन० सरवन कुमार ने मुरादपुर बंगरा के किसानों के साथ किया सवांद

पटना : संगीत की देवी लता मंगेश्कर के जन्मदिवस के अवसर पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा, बिहार के कला संस्कृति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष देव कुमार लाल की अध्यक्षता एवं जदयू प्रवक्ता श्री राजीव रंजन प्रसाद, राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र
श्रीवास्तव और राष्ट्रीय प्रवक्ता कमल किशोर की देखरेख में ‘मेरी आवाज ही पहचान है’ कार्यक्रम का आयोजन देव एंड फ्रेंड्स म्यूजिकल ग्रुप के सहयेाग से विटामिन एम म्यूजिक स्टेशन से किया गया। कार्यक्रम में कलाकारों ने लता मंगेश्कर के गाये सुपरहिट गीतों के जरिये लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर श्री राजीव रंजन प्रसाद मौजूद थे।



यह भी पढ़े : सासाराम से पैदल चलकर अंतर्राष्ट्रीय सीमा रक्सौल से नेपाल में घुसते 8 लोग पकड़ाए

कार्यक्रम में नंदिता चक्रवर्ती ने तुम्हें और क्या दूं मैं दिल के सिवा, तूलिका शरण ने लग जा गले, बरनाली विश्वास ने इक राधा इक मीरा, नीलम गुप्ता ने मेरे दिल ने जो मांगा मिल गया, संपन्नता बरूण ने एक प्यार का नगमा है, लक्की राॅय ने तुम मुझे यूं भुला ना पाओगे, नितेश रमन एवं नंदिता चक्रवर्ती वो जब याद आए युगल गीत एवं कीबोर्ड प्लेयर रवि रंजन प्रसाद -मिक्स दिल दीवाना बिन सजना के माने ना पर प्रस्तुति दी। बैंक ऑफ बड़ौदा, रामायण संस्था, रियल मीडिया फाउंडेशन एवं दीदी जी फाउंडेशन की ओर से सभी कलाकारों को सम्मानित किया गया।

जदयू प्रवक्ता श्री राजीव रंजन ने लता मंगेश्कर को उनके जन्मदिन पर बधाई एवं शुभकामना दी। उन्होंने कहा कि संगीत की देवी लता मंगेश्कर ने जितने भी गाने गाए हैं सभी सुपर डुपर हिट साबित हुये हैं। उन्होंने एक से एक बढ़कर गीत गाकर लोगों का दिल जीता है। लता दी ने भारतीय सिनेमा के संगीत जगत को नया आयाम दिया। गायकी के क्षेत्र में उनके योगदान को कभी भूलाया नहीं जा सकता। वह अपनी दिलकश आवाज के जरिए आज भी लोगों के दिल पर राज कर रही हैं।


यह भी पढ़े : धर्म: सृष्टि का अनादि तत्व शिव है: आचार्य अभिषेक दुबे

राष्ट्रीय एवं राजकीय पुरस्कार से सम्मानित और अखिल भारतीय कायस्थ महासभा कला संस्कृति प्रकोष्ठ बिहार की उपाध्यक्ष डॉ नम्रता आनंद ने अपनी संस्था दीदी जी फाउंडेशन की ओर से कार्यक्रम में सभी कलाकारों को प्रतीक चिन्ह, प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि लता दीदी भारत की सबसे लोकप्रिय गायिका है। लता दीदी की आवाज के दीवाने भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में मौजूद है। भारत रत्न, स्वर साम्राज्ञी, राष्ट्र की आवाज, स्वर कोकिला, पदम विभूषण, पदम भूषण, समेत कई फिल्म फेयर अवार्ड सम्मान से सम्मानित लता दीदी का जीवन बेहद संघर्षों से भरा रहा लेकिन फिर भी उनके सदाबहार गीतों ने पूरी दुनिया को मंत्रमुग्ध कर दिया। दीदी जी फाउंडेशन की ओर से आज इस सांस्कृतिक संध्या में कलाकारों को सम्मानित करने का मौका मिला इससे दीदी जी फाउंडेशन के सारे सदस्य बहुत खुश हैं।