बिहार में 10 जिलों के बाढ़ प्रभावित परिवारों को मिलेंगे 6-6 हजार रुपये, लिस्ट तैयार करने का आदेश

बिहार में 10 जिलों के बाढ़ प्रभावित परिवारों को मिलेंगे 6-6 हजार रुपये, लिस्ट तैयार करने का आदेश

रजनीश कुमार उर्फ मिठु गुप्ता की रिपोर्ट


यह भी पढ़े : तुरकौलिया के 6 कार्यपालक सहायकों पर कार्य में लापरवाही पर हुई कार्रवाई।


बिहार में मौजूदा बाढ़ की स्थिति को देखते हुए बाढ़ग्रस्त इलाकों के हरेग प्रभावित परिवार को सरकार की ओर से छह-छह हजार रुपये दिए जाएंगे.साथ ही साथ बाढ़ के कारण जिनका कच्चा-पक्का मकान क्षतिग्रस्त हुआ है या जिनकी फसल बर्बाद हुई है, सरकार उन्हें भी सहायता राशि देगी.

इसके साथ ही मवेशियों का नुकसान होने पर भी सरकार सहायता देगी.बाढ़ पीड़ितों को सरकारी सहायता पहुंचाने के लिए आपदा प्रबंधन विभाग ने जिलों को अविलंब सूची तैयार करने को कहा है. विभाग ने कहा कि सभी बाढ़ग्रस्त इलाके के सभी परिवारों को 6 हजार की सहायता राशि तुरंत दी जाएगी.


यह भी पढ़े : मदरसे में फंसे हुए छात्रों को महाराष्ट्र सरकार ने भेजा उनके घर बिहार


 


यह भी पढ़े : लॉकडाउन के मद्देनजर में समाजिक कार्यकर्ताओं ने सिसवनियां महादलित बस्ती में वितरण किया खाद्य सामग्री

प्रभावितों के नाम-पता के साथ अकाउंट नंबर भी लिया जाएगा. राहत निधि के 6000 रुपये सीधे प्रत्येक बाढ़ प्रभावित परिवार के बैंक खातों में जमा किया जाएगा.बिहार में अभी 10 जिले- सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगड़िया, पूर्वी व पश्चिमी चम्पारण बाढ़ से प्रभावित हैं.

इन जिलों में अभी 6.36 लाख से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित है. इन प्रभावितों को सहायता देने के लिए आपदा प्रबंधन ने लोगों की पहचान कर उनकी सूची बनाने का निर्देश जिलों को दिया है.विभाग ने कहा है कि बाढ़ग्रस्त इलाके के सभी परिवारों को सहाय्य अनुदान यानी जीआर मद में 6 हजार रुपए दिए जाने हैं.


यह भी पढ़े : मोतिहारी नगर के कई वार्डो में जरुरतमंदों के बीच राशन सामग्री का वितरण नगर थाना इंस्पेक्टर अभय कुमार और मुफ्फसिल थाना इंस्पेक्टर आंनद कुमार द्वारा किया गया

 

 


यह भी पढ़े : सुगौली:-- प्रखंड सभागार में हुई अनुश्रवण समिति की बैठक। पूरे प्रखंड को बाढ़ ग्रसित घोषित करने को उठी मांग।

इसके लिए प्रभावित परिवारों की सूची तैयार की जाए। सूची तैयार करते समय प्रभावितों का नाम-पता के साथ ही बैंक खाता भी लिया जाएगा. प्रभावितों को 6 हजार नकदी सीधे बैंक खातों में हस्तांतरित होगी ताकि कोई बिचौलिया बीच मे न आये.