डायवर्शन बना अवैध वसूली का अड्डा, राहगीर हो रहे है परेशान

डायवर्शन बना अवैध वसूली का अड्डा, राहगीर हो रहे है परेशान

सीतामढ़ी :- जल जमाव से हाल बेहाल है सीतामढ़ी - रीगा प्रखंड मुख्यालय पथ का। इस दौरान इस पहुंच पथ के खैरवा गांव के समीप बने डायवर्शन इन दिनों कुछ बाहुबली द्वारा अवैध वसूली का अड्डा बना हुआ है। बतादे कि इस पहुंच पथ के माध्यम से प्रत्येक दिन हजारों की संख्या में लोग जिला मुख्यालय आते जाते रहते है।


यह भी पढ़े : सीतामढी में प्रशासन की सख़्ती के बावजूद लॉकडाउन का खुलेआम उड़ रहा है माखौल

जिसमे जिले के प्रखंड क्षेत्र बैरगनिया, सुप्पी, मेजरगंज, पूर्वी चंपारण के मोतिहारी, पकड़ी दयाल के अलावा शिवहर जिला के अलावा पड़ोसी देश नेपाल के लोग होते है। जिला मुख्यालय से रिगा प्रखंड मुख्यालय को जोड़ने वाली यह मुख्य सड़क है। इस पथ के खैरवी चौक के पास तकरीबन 5 माह पूर्व एक डैमेज पुलिया को तोड़ दिया गया था। एवं अधिकारियों द्वारा बारिश से पूर्व पुलिया तैयार करने का भी बात कहा गया था। लेकिन काम चलाउ डायवर्शन बनाकर ही काम को खत्म कर दिया गया।

लिहाजा कई दिनों से लगातार हो रही बारिश के बाद डायवर्शन में तकरीबन 4 फीट पानी का बहाव जारी हो गया है। जिसका फायदा उठाते हुए स्थानीय कुछ लोग डायवर्शन में पानी होने का नाजायज फायदा उठाने में लगे है। नतीजतन इससे बचने के सोच पाले हुए ऐसे दो दर्जन बाइक चालक दुर्घटनाग्रस्त और चोटिल हो चुके हैं। जो खुद अपनी बाईक को लेकर बहाव पानी के रास्ते डायवर्शन पर कर रहे थे।


यह भी पढ़े : चिरैया विधानसभा क्षेत्र के जदयू पूर्व प्रत्याशी व कार्यकर्ताओं ने टीवी व मोबाईल पर मंत्री व सांसद के वर्चुअल कार्यक्रम को देखा

बाहुबली स्थानीय ग्रामीणों ने पुलिया पर चचरी पुल बना कर आने जाने वाले राहगीरों से 50 से 100 रूपए तक अवैध वसूली कर रहे है। दूसरी तरफ वैकल्पिक सड़क खैरबा कुशमारी पथ काफी संकृण होने के कारण प्रतिदिन पुरी तरह से जाम रहती है। सोमवार के सुबह 10 बजे से ही खैरबा कुशमारी पथ में तकरीबन 5 घंटे तक जाम लगा रहा। जो इस कोरोना महामारी काल में इस तरह से जाम लगना खतरों से कम नहीं है। पुलिया व डायवर्सन क्षतिग्रस्त होने के बाद जिला मुख्यालय जाने के लिए सिर्फ और सिर्फ खैरवा कुशमारी पथ ही है।

जहां प्रतिदिन जाम लगा रहता है। बीते 5 महीना बीत जाने के जनता दलयू के पूर्व जिला अध्यक्ष नागेंद्र प्रसाद सिंह ने जवाबदेह अधिकारी के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने व प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग करते हुए उन्होंने कहा है कि जल्द से जल्द वैकल्पिक सड़क को दुरुस्त नहीं किया गया तो जिला प्रशासन के खिलाफ धरना एवं प्रदर्शन का कार्य किया जाएगा। इस सड़क की दुर्दशा को देखते हुए सामाजिक कार्यकर्ता राजन कुमार सिंह समेत अन्य लोगो ने जिला समाहर्ता को इस मामले से अवगत भी कराया है। लेकिन ना तो जिला प्रशासन की ओर से इसकी सुधि ली गई और ना ही आने जाने के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था किया गया है। और अवैध वादिली कराने वाले अपने वसूली रोजगार में लगे हुए है। राहगीर परेशान और हताश है।


यह भी पढ़े : बिद्यायक के निजी कोष से शहर के जरूरतमंद लोगों के बीच राहत सामग्री बाटा गया।